गुजरात में दो साल में 252 करोड की शराब पकडी गई

अहमदाबाद ।
शराबबंदी को लेकर गुजरात व राजस्थान के मुख्यमंत्रियों में बीते कुछ दिनों से जमकर शब्दबाण चल रहे हैं । गुजरात के सीएम विजय रूपाणी की चुनौती को मानते हुए राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने भी शराबबंदी की ओर कदम बढ़ाए हैं । इसी बीच, खबर है कि बीते दो साल में गुजरात में २५२ करोड़ की शराब पकड़ी गई है । गुजरात के गृह राज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने बताया कि राज्य सरकार ने शराब तस्करी व युवाओं में नशे की प्रवृत्ति को रोकने के लिए शराबबंदी कानून को सख्त किया है । शराब की तस्करी व उसके सेवन करने पर सजा व जुर्माने का प्रावधान भी बढ़ाया गया । राज्य में बीते दो साल में पुलिस ने करीब २५२ करोड़ ३२ लाख रुपये की शराब पकड़ी है । पुलिस ने सबसे अधिक विदेशी शराब की एक करोड़ ३८ लाख १५५८ बोतल पकड़ी गई, जबकि बीयर की १७ लाख एक हाजर ३८ बोतल जब्त की गई ।
राज्य में एक साल में सबसे अधिक अहमदाबाद से ही २५ करोड़ की शराब जब्त हुई, जबकि वलसाड से १७ लाख, सूरत से १४ लाख, पंचमहाल २० व गांधीनगर से १० करोड़ की शराब पकड़ी गई । गौरतलब है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गत दिनों गुजरात में घर-घर में शराब पिए जाने का बयान देकर विवाद को जन्म दे दिया था, जिसके बाद गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने गहलोत को राजस्थान में शराबबंदी की चुनौती दी थी । गहलोत ने भी गत दिनों उच्च अधिकारियों का एक समूह बिहार में शराबबंदी के मॉडल के अध्ययन के लिए भेज राजस्थान में शराबबंदी की सुगबुगाहट शुरू कर दी है ।
पूर्व विधायक गुरुशरण छाबडा ने प्रदेश में शराबबंदी की मांग को लेकर कई बार अनशन किए । इस दौरान ही उनका निधन भी हुआ । उपके बाद छाबडा की बहू पूनम अंकुर छाबडा व सामाजिक कार्यकर्ता व एनसीपी राजस्थान के प्रमुख उम्मेद सिंह चंपावत ने इस आंदोलन को हवा दी । खबर है कि आगामी एक अप्रैल से राजस्थान में पूर्ण शराबबंदी हो जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.