बोर्ड की तैयारी: जीव विज्ञान में चित्र व सटीक जवाब दिलाएंगे अंक….

यूपी बोर्ड इंटरमीडिएट के जीव विज्ञान (बायोलॉजी) में अच्छे अंक पाने के लिए छात्रों को चित्र (डाइग्राम ) पर ज्यादा जोर देने की जरूरत है। विषय विशेषज्ञों की मानें तो, जब भी उत्तर लिखें यदा संभव चित्र जरूर बनाएं। इससे 30 से 40 प्रतिशत तक अतिरिक्त अंक प्राप्त कर सकेंगे। चित्र के अकेले प्रश्न भी आ सकते हैं। इन्हें स्वच्छता से बनाकर लेबलिंग करना चाहिए। रंग वाली पेंसिलों का उपयोग कर सकते हैं पर ध्यान रहे कि लाल रंग उपयोग न करें। जवाब देने में यदि लगता है कि इसमें चित्र है तो जरूर बनाएं। इस विषय में उत्तर सटीक लिखें। ज्यादा लिखने के चक्कर में समय प्रबंधन बिगड़ सकता है। .

जीव विज्ञान में कुछ महत्वपूर्ण यूनिट : आनुवंशिकी और विकास को अच्छे से तैयार करें। इसमें भी वंशागति और विविधता, मेंडलीय वंशागति, मेंडलीय अनुपात से विचलन आसानी से तैयार किया जा सकता है। वंशागति का आणविक आधार में डीएनए और आरएनए की संचरचना, डीएनए फिंगर प्रिंटिंग के साथ डीएनए प्रतिकृतियन महत्वपूर्ण है। .

इन विषयों को भी जरूर पढ़ें : विकास में जीवन की उत्पत्ति, जैव विकास एवं जैव विकास के प्रमाण को ठीक ढंग से तैयार करना चाहिए। इसमें डार्विन का योगदान और मॉडर्न सिंथेटिक थ्योरी के साथ उत्परिवर्तन एवं पुनर्योजन खास है। जीव विज्ञान और मानव कल्याण में मानव स्वास्थ्य और रोग को जरूर तैयार करें।

विशेषज्ञों की सलाह-
डायग्राम सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हैं। तैयारी के दौरान बार-बार इन्हें बनाकर अभ्यास करें। प्रश्नों के उत्तर में तथ्य होने चाहिए। बिना वजह से उत्तरों को खींचने से सिर्फ समय बर्बाद होगा। परिभाषा के रूप में सवाल पूछे जाते हैं। जवाब में जो खास लगे उसके नीचे लाइन खींच सकते हैं। पेपर हल करने में 15 मिनट का जो अतिरिक्त समय मिलता है। उसमें सवालों को समझें। तय करें कि किस प्रश्न में कितना समय देना है। किसी भी सवाल के जवाब में अतिरिक्त समय बर्बाद न करें। 15 मिनट पहले पेपर पूरा कर लें और रिवीजन करें। – सतीश कुमार शुक्ल, शिक्षक, राजकीय यूपी सैनिक इंटर कॉलेज

कोई नई किताब या गाइड न शुरू करें। पहले नौ अंक के प्रश्न 20 मिनट में करें। दो अंकों के प्रश्न को अधिक तीन मिनट दें। एक से डेढ़ लाइन लिखनी होती है। तीन अंकों वाले प्रश्न को अधिकतम 6 से 8 मिनट का समय दें। विस्तृत उत्तर में 20 मिनट तक का समय लें। अनुवांशिकी, जैव प्रोद्योगिकी, प्रदूषण एवं उससे होने वाले पर्यावरिणीय असंतुलन, मानव स्वास्थ्य के टॉपिक से विस्तृत सवाल पूछे जाने की उम्मीद ज्यादा हैं। पौधों और जानवरों के वैज्ञानिक नाम लिखकर अभ्यास करें। ज्यादा लम्बा न लिखें। सटीक उत्तर दें। – डॉ. वंदना प्रवीण, शिक्षिका, जुबिली इंटर कॉलेज

ऐसा है पेपर का प्रारूप-
पहले प्रश्न में एक-एक अंक के चार, दूसरे प्रश्न में एक-एक अंक के पांच, तीसरे प्रश्न में दो-दो अंक के पांच, चौथे प्रश्न में तीन-तीन अंक के चार सवाल, पांचवे प्रश्न में तीन-तीन अंक के चार सवाल, छठे प्रश्न में चार-चार अंक के तीन सवाल, सातवें में पांच अंक का एक सवाल अथवा के साथ, आठवें में पांच अंक का एक सवाल अथवा के साथ और नवें प्रश्न में पांच अंक का एक प्रश्न अथवा के साथ आएगा।

70 अंक के प्रश्नपत्र में जनन के लिए 14 अंक,
आनुवंशिकी और विकास के लिए 18 अंक,
जीव विज्ञान और मानव कल्याण के लिए 14 अंक
जैव प्रौद्योगिकी एवं उसके अनुप्रयोग के लिए 10 अंक,
पारिस्थिति की एवं पर्यावरण के लिए 14 अंक तय हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.