जल्द ​ही टूट सकता है मोहम्मद शमी का सबसे तेज 100 वनडे विकेट झटकने का रिकॉर्ड…..

हार्दिक पांड्या(Hardik Pandya) के फैंस के लिए खुशखबरी है। पांड्या पर लगाया गया बैन बीसीसीआई की कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स(COA) ने गुरुवार (24 जनवरी) को हटा लिया है। बैन को हटाए जाने के बाद पंड्या को न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे श्रृंखला में भारतीय टीम में शामिल होने के लिए मंजूरी दे दी गई है। वहीं, केएल राहुल (KL Rahul) भी भारत ए टीम की तरफ से इंग्लैंड लायंस के खिलाफ पांच वनडे मैचों की सीरीज खेलते नजर आएंगे। बीसीसीआई द्वारा जारी प्रेस रिलीज में कहा गया कि हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) को जल्द से जल्द न्यूजीलैंड भेजा जाएगा और केएल राहुल इंडिया ए टीम को ज्वाइन करेंगे और इंग्लैंड लायंस के खिलाफ बाकी बचे तीन मैच खेलेंगे।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित बीसीसीआई प्रशासकों की समिति ने हार्दिक पंड्या और केएल राहुल का निलंबन वापस ले लिया है। सीओए ने यह निर्णय न्यायमित्र (Amicus Curiae) पीएस नरसिम्हा के साथ विचार विमर्श के बाद लिया है। गौरतलब है कि ‘कॉफी विद करण’ चैट शो में महिलाओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में हार्दिक पंड्या और केएल राहुल को जांच पूरी होने तक निलंबित कर दिया गया था। जिसके बाद इन दोनों खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया दौरा बीच में ही छोड़कर वापस भारत लौटना पड़ा था।

हालांकि इस मामले से जुड़ी सुनवाई 5 फरवरी को सुप्रीम कोर्ट में होनी है। बीसीसीआई ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा, ‘उपरोक्त बातों को नजर में रखते हुए दोनों खिलाड़ियों पर 11 जनवरी से लगा प्रतिबंध तत्काल प्रभाव से खत्म किया जाता है। इसके साथ ही आरोपों पर न्यायिक निर्णय लेने के लिए लोकपाल की नियुक्ति करने के मामले की सुनवाई भी होगी।’ हार्दिक इस फैसले पंड्या के अब न्यूजीलैंड दौरे में टीम से जुड़ने की संभावना है जबकि राहुल घरेलू क्रिकेट या भारत ए की तरफ से इंग्लैंड लायन्स के खिलाफ खेल सकते हैं।

सीओए ने कहा कि इन दोनों खिलाड़ियों को निलंबित करने का फैसला बीसीसीआई के संविधान के नियम 46 के तहत लिया गया जो कि खिलाड़ियों के व्यवहार से संबंधित है। खिलाड़ियों पर से निलंबन हटाने के लिये बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी के खन्ना ने पहले की थी। उनका मानना था कि जांच लंबित रहने तक निलंबन हटाया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.