उत्तर प्रदेश के चन्दौसी में नगर के आजाद रोड स्थित गुरुतेग बहादुर कालोनी में पुलिस इंस्पेक्टर के घर में उनकी पत्नी, छोटे भाई और नौकरानी की गला रेत कर हत्या कर दी….

उत्तर प्रदेश के चन्दौसी में नगर के आजाद रोड स्थित गुरुतेग बहादुर कालोनी में पुलिस इंस्पेक्टर के घर में उनकी पत्नी, छोटे भाई और नौकरानी की गला रेत कर हत्या कर दी गई। दो दिन पहले वारदात को अंजाम दिया गया। बेटी का फोन न उठने पर रिश्तेदार घर पहुंचे तब मामले की जानकारी हुई। पुलिस के आला अफसर मौके पर पहुंच गए हैं और लूटपाट की वारदात को अंजाम देने के लिए तीनों हत्या करने की आशंका जाहिर कर रहे हैं।

4 विधायक के गायब होने के बाद कर्नाटक कांग्रेस ने MLAs को रिजॉर्ट भेजा

बुलंदशहर के जेवर के निकट स्थित गांव महमूदपुर निवासी स्व़ सत्यपाल सिंह पुलिस विभाग में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत थे। सन् 1982 में बीमारी के चलते उनका निधन हो गया। पत्नी संतोष देवी (70) काफी वर्षों से चन्दौसी के आजाद रोड पर किराए के मकान में रह रही थीं। इंस्पेक्टर का चचेरा भाई केशर सिंह (62) निवासी बुलंदशहर भी साथ में रहता था। संतोष देवी 15 दिन पहले ही आजाद रोड पर रोडवेज बस स्टैंड के सामने स्थित गुरुतेग बहादुर कालोनी में अपने नवनिर्मित मकान में रहने आई थीं। हाल ही में एक नौकरानी युवती भी रखी थी। गुड़गांव निवासी बड़ी बेटी रश्मि सिंह ने कालोनी में ही रह रहे अपने देवर अनुराग सिंह को शुक्रवार की रात में फोन कर बताया कि काफी समय से मां का फोन नहीं उठ रहा है।

युद्ध नहीं, फिर सीमा पर इतने सैनिकों की शहादत क्यों : मोहन भागवत

इस पर अनुराग सिंह जब संतोष देवी के घर पहुंचे तो मेनगेट खुला था। अंदर गए तो बाहर बरामदे में तख्त पर संतोष देवी और पास की चारपाई पर नौकरानी की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। दोनों का धारदार हथियार से गला रेता गया था। बाहर लॉबी में केशर सिंह का शव खून से सना पड़ा था। कमरे की अलमारी खुली थी और सामान बिखरा था। सूचना पाकर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। अपर पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डेय भी पहुंचे। देर रात तक पुलिस मौके पर थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No announcement available or all announcement expired.