ग्वालियर पूर्व में आक्रोश, नगरीय विकास मंत्री माया सिंह की राह में कई गड्‌ढे

ग्वालियर जिले से प्रदेश की नगरीय विकास और आवास मंत्री माया सिंह की विधानसभा सीट ग्वालियर पूर्व। यहां टूटी सड़कों के कारण लोगों में मंत्री को लेकर इतना आक्रोश है कि पिछले दिनों क्षेत्र के लोगों ने उनका रास्ता तक रोक दिया था। उपनगर मुरार के सदर बाजार, चेतकपुरी, बंसत विहार और आदित्यपुरम जैसी पॉश कॉलोनियों की मुख्य सड़कें इतनी बुरी हालत में पहुंच चुकी हैं, जितनी पहले कभी नहीं थीं।

भास्कर ने जब इस सीट पर दस्तक दी तो ज्यादातर लोगों ने टूटी-फूटी सड़कों को ही बड़ा मुद्दा बताया। उनका कहना है कि विकास के नाम पर भले ही स्मार्ट सिटी और अमृत जैसी भारी-भरकम योजनाएं शुरू कर दी गई हों, लेकिन इनका कितना फायदा मिल पाएगा अभी तो कहना मुश्किल ही है। इसके अलावा हुरावली में 500 मकानों की तुड़ाई से प्रभावित लगभग 2500 लोगों की व्यवस्था न हो पाना और लोहिया व दाल बाजार की शिफ्टिंग न हो पाने से क्षेत्रवासी माया सिंह के खिलाफ एकजुट हो रहे हैं।

1147 वोटों से मिली थी जीत: इस सीट से माया सिंह ने पिछला चुनाव मात्र 1147 वोटों के अंतर से जीता था। जीत के अंतर से कहीं ज्यादा (2112) वोट नोटा को मिले थे। बसपा के आनंद शर्मा 17,969 यानी 12.75 प्रतिशत वोट ले गए थे। आनंद पूर्व में कांग्रेस में थे, लेकिन वहां से टिकट न मिलने के कारण उन्होंने बहुजन समाज पार्टी का दामन थाम लिया था।

सीवेज दूसरी बड़ी समस्या, फिल्टर वाला पीने का पानी भी नहीं मिल रहा : क्षेत्र के 70 फीसदी हिस्से में सीवर नेटवर्क है पर सिटी सेंटर से लेकर कलेक्टोरेट तक नई कॉलोनियों में इस समस्या ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है। 80 फीसदी हिस्से में पानी की लाइनें हैं, लेकिन इसमें से भी बड़ी आबादी को फिल्टर पानी नहीं मिल पा रहा है। 65 फीसदी इलाके में नियमित सफाई होनी चाहिए पर कचरे के ढेर और झाड़ू न लगने की शिकायत पूरे शहर में सबसे ज्यादा इसी विधानसभा क्षेत्र की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *